Email Exchanges between Indian National Congress and Myself – Part 1

प्रिय मित्र,
आजकल कुछ राजनीतिक दल भ्रष्टाचार मिटाने के नाम पर आपका समर्थन मांग रहें हैं। भ्रष्टाचार के मामलों में सच जानना आपका अधिकार भी है और कर्तव्य भी। हमारा आग्रह इतना ही है कि राजनीतिक दलों के दावों और आरोपों की जांच अवश्य करें और सही फैसला लें।
कृप्या इन बिन्दुओं पर ध्यान दें और पूरी जांच करनें के बाद ही अपना वोट डालें।
  • जहां कांग्रेस 2005 में RTI कानून लाई, गुजरात में अमित जेठवा जैसे RTI कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी जाती है, जिसमें भाजपा के     नेताओं के नाम स्पष्ट रुप से शामिल हैं। Source
  • कांग्रेस लोकपाल बिल लाई जबकी गुजरात में 10 साल तक लोकायुक्त की नियुक्ति नहीं की गई। जब राज्यपाल ने लोकायुक्त को नियुक्ति किया तो राज्य सरकार ने इसको किसी भी तरह से रोकने के लिए मुक्द्दमें में 45 करोड़ खर्च किए। Source
  • Supreme Court ने गुजरात सरकार की मंत्री आनंदी बेन पटेल को एक जमीन आवंटन के मामले में दोषी पाया पर वो आज भी गुजरात सरकार में मंत्री बनी हुई हैं। Source
  • 400 करोंड़ के मछली पालन घोटाले में कोर्ट द्वारा दोषी पाए गए पुरुषोत्तम सोलंकी गुजरात मंत्रीमंडल को आज भी सुशोभित कर रहे हैं। Source
  • जहां कांग्रेस ने दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की, भ्रष्टाचार के मामले में जेल यात्रा कर चुके यदुरप्पा को भाजपा पार्टी में फिर शामिल किया। Source
  • कोयला आंवटन के मामले में हमेशा के लिए एक पारदर्शी नीति बनाने की नीयत से UPA सरकार नें Coal Blocks  के निलामी (auction) का फैसला लिया था। CAG ने कहा है कि auction की नीति देर से लागू की गई, जिसके कारण ‘private parties’ को 1.86 lakh crore का फायदा हुआ था। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि राज्य सरकारों के दबाव के कारण भारत सरकार को 1993 की ही नीति को जबरन अपनाना पड़ा। ध्यान रहे कि इस नीति में भाजपा ने अपने 6.5 साल के शासनकाल में कोई बदलाव नहीं किया।
  • जब नीति पुरानी थी और एक भी खान में खनन नहीं हुआ तो देश को नुक्सान कैसे हुआ। Source
  • CBI उन मामलों की जांच कर रही है, जिसमें सरकारी विभाग के अधिकारियों ने procedures का पालन नहीं किया और कानून दोषियों को सजा देगा।
  • 2G आवंटन मामलें में भी कहानी कुछ ऐसी ही है। इस मामलें के दो पहलू हैं, पहला सरकार की नीति क्या थी और दूसरा ए राजा ने किस तरह से इस नीति को लागू किया।
  • राजा के खिलाफ मामला कोर्ट में है और अगर कोई अपराध हुआ है तो उन्हे कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी।
  • जहां तक नीति का सवाल है, यह वही नीति है जो NDA के समय से लागू है और इसका लक्ष्य यह है कि देश के लोग सस्ते दामों पर Mobile phone की सुविधा का लाभ उठा सकें।
  • CAG का आरोप है कि auction न करके हमने देश का नुक्सान किया है पर सरकार की नीति का मक्सद लोगों तक सस्ती मोबाइल सुविधा उपलब्ध करना था, न कि auction कर के राजस्व इक्ठ्ठा करना। UPA सरकार ने 3G सेवाओं को auction करके देश के लिए संसाधन जुटाए जबकि 2G सेवाओं का इस्तेमाल देश का गरीब से गरीब आदमी कर सकता है। जहां तक नीति का सवाल है, उससे देश के करोड़ों लोगों को आगे बढ़ने के अवसर मिलें हैं। Source
  • Common Wealth Games के आरोपी सुरेश कलमाड़ी को हमारी सरकार ने भारतीय ऑलंपिक संध के अध्यक्ष पद से हटाया और अब उनपर कोर्ट में मुक्द्दमा चल रहा है। वहीं जेल की यात्रा कर चुके श्री येदुरप्पा को भाजपा ने अपने मंच से सम्मानित किया, जबकि कांग्रेस ने सुरेश कलमाड़ी का टिकट काट दिया।
चुनाव के शोर में सच कई बार सुनाई नहीं देता खासकर जब शोर करने वाला झूठ बोलने में माहिर हो। हम आपको सच बतानें की कोशिश तो कर ही रहें हैं पर आपका भी फर्ज हैं कि आप अपने स्तर पर सच की जांच करें और सोच समझकर फैसला लें।
अगर आप इन तथ्यों से सहमत हैं तो कृप्या इसे अपने मित्रों से शेयर जरुर करें।
जय हिंद,

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

 

 

My Reply…..

Good email but too little too late.
Some arguments from my end:
  1. RTI was never your pet project. It was because of the members of civil society, you were forced to pass that law.
  2. Lokpal, you should be ashamed of yourself to tell that Congress passed the bill. We all know what happened to Shri Anna Hazare and co. while they forced you to pass it.
  3. Ajit Pawar is still your partner even after irrigation scam.
  4. Lalu is still your partner after he was indicted with scam.
  5. Ashok Chavan still have a ticket for Lok Sabha election.
  6. You still have candidates that are disgrace to India. One of your candidate even said that inflation is because poor people have started eating more.
  7. People like Digvijay Singh and Kapil Sibal makes me realize that a rickshaw puller is better as a minister. At most, the rickshaw puller will not say and do anything.
  8. The best is Rahul Gandhi. I have no words to describe his talents (sarcasm).

I hope to never see you in power in my life time.

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s